जिंदगी में तमाम तरह के बदलाव और तनाव के चलते खुद का ध्यान देना न भूलें. कुछ ऐसी आदतें हैं जो आपको आसानी से अपने दिमाग और सेहत दोनों को खुश रखने में मदद करती हैं.

सेल्फ केयर आइडिया क्या है ? जब आप यह सवाल खुद से करते हैं तो इसके महत्व को समझते हैं. दरअसल सोशल मीडिया और डिजिटल दुनिया के इस नये सफर में हम अपने सोशल पन्ने पर लिख तो देते हैं कि सेल्फ केयर मैं अपनी कर लेती हूं या कर लेता हूं. लेकिन कई बार देखा गया है कि हम सिर्फ सोशल जगत में ऐसा कह रहे होते हैं. जब हम सेल्फ केयर कर भी नहीं रहे होते हैं.

अब आप अपने बारे में ही सोचे कि आपने अपने दिमाग और मन की शांति के लिए कुछ नया आखिर बार कब किया था ? चलिए आपका जवाब शायद ना ही हो. कोई बात नहीं अभी भी देर नहीं हुयी है. आप अपनी लाइफ में सेल्फ केयर आइडिया को अभी से अपना सकते हो.

सेल्फ केयर क्या होता है ?
जब हम सेल्फ केयर की बात करते हैं तो यह शरीर के साथ मन और दिमाग की शांति की भी बात शामिल होती है. बदलती जीवनशैली और दबाव के माहौल में अपनी क्षमता बनाए रखाना और तनाव से दूर बने रहना ही सेल्फ केयर है. इसके अलावा दिमाग को खुश करने के कुछ ऐसे गतिविधियों को शामिल करना जो छोटे-छोटे पलों में आपको आनंदित करें और आप उससे खुश हो जाएं.

बेस्ट 3 सेल्फ केयर आइडिया
सेल्फ केयर को लेकर आप कभी ऐसे न सोचे कि यह कोई मेडिकल की भाषा में दिया गया ज्ञान है. इसके लिए आपको अपने मन की शांति और दिमाग को मिलने वाले आराम पर ध्यान देना है. इसके लिए आप सिर्फ इन तीन बातों को अगर दिन में अपना लें तो बहुत जल्द आपको सेल्फ केयर के मायने समझ में आ जाते हैं.

दिन में एक बार खुद की पंसद वाली चाय बनाएं
सबसे पहला काम यह कि दिन में एक बार खुद के लिए समय निकाल कर चाय-कॉफी बनाएं. आप चाहें तो अदरक वाली चाय भी बना सकते हैं. इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप क्या पीते हैं. फर्क इस बात से पड़ता है कि आप किस स्वाद की पीते हैं. तो देर किस बात की अपने स्वाद के हिसाब से बनाएं और अपने दिमाग को एक अलग तरह का एहसास दें.

यह आपको स्ट्रेस से राहत देता है. अगर आपको किसी प्रकार का तनाव है तो इससे आपको राहत मिलती है. डिप्रेशन की समस्या से भी आपको बचाने में यह मददगार है.

खुशी के पुराने लम्हें याद करें
जब आप भाग-दौड़ भरी जिंदगी से परेशान हों तो अपने लिए समय निकालें. जीवन में गुजरे जमाने के कुछ खास लम्हों को याद करें. आप अपने पुराने एलबम को भी पलट सकते हैं. इसके अलावा आप कोई पुराना धारावाहिक या हंसाने वाली फिल्म देख सकते हैं जो आप अपने बचपन में देखा करते थे.

स्किन केयर के लिए पुराने तरीके अपनाएं

बचपन में मुल्तानी मिट्टी घंटो लगाकर फिर उसे पानी से साफ करने की नादानी अगर आपने की है, तो बड़े होकर भी अपने स्किन केयर का ख्याल क्यों भूल गये हैं. सप्ताह में एक दिन अपनी स्किन के लिए मसाज, स्क्रबर, फेस-वॉश जैसे कार्यों के लिए दें. ऐसा करके खुद को आइने के सामने देख कर खुश हों और मन को भी प्रसन्न रखें.

Author's Bio: 

Digital marketing executive